SHADI ANUDAN से हुई है शादी मेरी – POEM

2
283
Shadi Anudan
Shadi Anudan

SHADI ANUDAN से हुई है शादी मेरी…

 

पापा क्या हुआ जो Shadi Anudan से हुई है शादी मेरी।
PAPA शादी तो आपके आशीर्वाद से ही हुई है मेरी।।
पापा रोना मत झोली खुशियों से भरी हुई है मेरी।
पापा क्या हुआ जो शादी अनुदान से हुई है शादी मेरी।।

पसंद था वो लड़का आपको जिसे मैंने अपनी ज़िंदगी बना लिया।
पगड़ी पर आपकी दाग ना लगे ससुराल को मैंने घर अपना बना लिया।।
गर्व है मुझे कि मैं पत्नी थी उसकी जिसने मुझे छोड़ सब को अपना लिया।
रोना मत पापा मैं खुश हूं उनकी यादों को दिल में बसा लिया।।

लड़का भी अच्छा था दिल का भी सच्चा था।
मेरे अलावा वो सबका ख्याल रखता था।।
मुझसे रूठा भी नहीं था मेरे पास भी कभी नहीं था।
शादी के अगले ही दिन छोड़ कर का चुका था।।

 

Shadi Anudan
Shadi Anudan

सासू मांं कहती थीं रो मत बेटी वो आयेगा।
बेटी तुझे घुमाने सिंगापुर लेकर जायेगा।।
तेरी ननद कि शादी में वो खूब भांगड़ा पायेगा।
बेटी बहन की विदाई पर वो तुझसे लिपट कर रोयेगा।।

पापा वो वापिस आए थे लेकिन बोले नहीं मुझसे।
सासू मां ने भी बुलाया फिर भी दो शब्द ना निकले मुंह से।।
बहन ने रो रो रुदन मचाया था एक बार भी नहीं देखा प्यार से।
आया था हमको रुलाने वापिस चला गया बड़ी शान से।।

 

Iandian Army
Iandian Army

मैं शिक़ायत नहीं कर रही हूं पापा आपसे।
मैं तो हमेशा खुश थी इस शादी अनुदान से।।
पापा भाई को मेरे भेज देना मेरे एक काम से।
पापा विवाह है ननद का मेरी Shadi Anudan से।।

आज आये होते वो तो नज़ारा कुछ और होता।
एक फौजी कि बहन का विवाह 5 Star में होता।।
रोने का वक्त नहीं है मेरे पास ननद मेरी का रोका है।
शादी में जरूर अजाना पापा शादी Shadi Anudan से है।।

Writer – Himanshu Dhami

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here